It's only fair to share...Share on FacebookShare on Google+Tweet about this on TwitterShare on LinkedIn
मुआवजा प्राप्त करने के लिए प्रार्थना-पत्र कहाँ दिया जा सकता है ?
It's only fair to share...Share on FacebookShare on Google+Tweet about this on TwitterShare on LinkedIn

मुआवजा प्राप्त करने के लिए प्रार्थना-पत्र न्यायालय परिसर में स्थित संबंधित जिला विधिक सेवाएँ प्राधिकरण में दिया जा सकता है।

मुआवजे का आदेश पास होने के पश्चात कितने समय में राशि का भुगतान हो जाता है ?
It's only fair to share...Share on FacebookShare on Google+Tweet about this on TwitterShare on LinkedIn

मुआवजे का आदेश पास होने के पश्चात 24 घंटे के भीतर राशि का भुगतान पीड़ित के अकांउट में, हो जाता है।

क्या एसिड अटैक से पीड़ित भी मुआवजा प्राप्त करने के अधिकारी हैं?
It's only fair to share...Share on FacebookShare on Google+Tweet about this on TwitterShare on LinkedIn

हाँ, एसिड अटैक से पीड़ित भी मुआवजा प्राप्त करने के अधिकारी हैं।

एसिड अटैक के पीड़ित को मुआवजा प्रदान करने की समय सीमा क्या है ?
It's only fair to share...Share on FacebookShare on Google+Tweet about this on TwitterShare on LinkedIn

एसिड अटैक के पीड़ित को मुआवजा तीन महीने के भीतर प्रदान किया जाता है।

 

अपराध से पीड़ित लोगों को मुआवजा प्रदान करने की क्या प्रक्रिया है ?
It's only fair to share...Share on FacebookShare on Google+Tweet about this on TwitterShare on LinkedIn

अपराध से पीड़ित लोगों को मुआवजा निम्न आधारों पर प्रदान किया जाता है-

  1. स्ंबंधित एस.एच.ओ की सिफारिश पर।
  2. स्ंबंधित न्यायालय के द्वारा आदेश पास किए जाने पर।
  3. स्ंबंधित जिला विधिक सेवाएँ प्राधिकरण में प्रार्थना पत्र दिए जाने पर।
  4. इस प्रकार के प्रार्थना पत्र/सिफारिश को संबंधित जिला विधिक सेवाएं प्राधिकरण के सचिव के द्वारा दिल्ली पीड़ित क्षतिपूर्ति योजना, 2011 के अंतर्गत निस्तारित किया जाता है। दिल्ली पीड़ित क्षतिपूर्ति योजना, 2011 हमारी वेबसाइट www.dslsa.org पर उपलब्ध है।
किस आधार पर अपराध से पीड़ित लोगों को मुआवजा प्रदान किया जाता है ?
It's only fair to share...Share on FacebookShare on Google+Tweet about this on TwitterShare on LinkedIn

अपराध से पीड़ित लोगों को मुआवजा दिल्ली पीड़ित क्षतिपूर्ति योजना, 2011 के अनुसार प्रदान किया जाता है।